Jansansar
बिज़नेस

ग्रोथ सर्कल के विश्व में आपका स्वागत है। ग्रोथ सर्कल एक ऐसी कम्युनिटी है जो अपने सभ्यों के लिए उनके साथ मिलकर मल्टीपल इनकम सोर्सेस क्रिएट करके वैल्थ बिल्ड करने का भगीरथ कार्य करते हैं।

आज प्रत्येक व्यक्ति की सबसे बड़ी चैलेंज है कि वो अपनी रैगुलर इनकम में महंगाई से भी जुझे, अपने बच्चों के एजुकेशन के लिए धनराशि इकट्ठा करें, अपने रिटायरमेन्ट के लिए प्लानिंग करें या अपने बच्चों की शादी या अपने बुढ़ापे में बीमारियों के लिए पैसा बचाएं।

ये सबकुछ सिर्फ एक रैगुलर इनकम से होना थोड़ा कठिन है। उपरसे वैश्विक मंदी और युद्धों के चलते नौकरियां जाना आम बात है।

ऐसे में आप अपनी रैगुलर इनकम के साथ साथ अपने लिए कुछ और एक्स्ट्रा इनकम कमा सकें तो आप और आपका परिवार एक बेहतर जिंदगी पा सकते हैं।

ग्रोथ सर्कल कुछ ऐसी ऑपर्च्युनिटीज क्रिएट कर रहे हैं जो डिसरैपटिव हो, एक जाना पहचाना ब्रांड हो जिसे लोग जानते हों, जिसके लिए काम करना आसान हो, और जिसमें अच्छी इनकम हो सके।

जैसे पॉलिसी बाज़ार, या टाटा AIA, Max Life, Religare हों या graphy जैसा लर्निंग प्लेटफॉर्म। इन ब्रांड्स को लोग जानते हैं, पसंद करते हैं, और इस पर लोग पैसे खर्च करते हैं।

हमें बस हमारे फायदे के लिए इनके साथ काम करना होगा। ग्रोथ सर्कल ऑपर्च्युनिटीज के साथ साथ उनपर बेहतर काम करने के लिए  स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के साथ हैंडहोल्डिंग सपोर्ट भी प्रदान करते हैं।

ग्रोथ सर्कल का मिशन स्टेटमेंट ही है Let’s Create Wealth Together।

आइए आप भी ग्रोथ सर्कल के साथ जुड़कर एक्स्ट्रा इनकम सोर्सेस जनरेट करके वैल्थ क्रिएट करने के भगीरथ कार्य में जुड़ जाएं, अभी www.grrowthcircle.com पर विजिट करें, और अपना रजिस्ट्रेशन जमा कराएं।

आपका रजिस्ट्रेशन होने के बाद हम आपसे आगे की प्रोसेस के लिए संपर्क करेंगे।

Related posts

जी-क्रैंक्ज़ ने गुजरात के अहमदाबाद में एक नया कार्यालय खोलकर अपने परिचालन का विस्तार किया

Jansansar News Desk

कलामंदिर ज्वैलर्स ने “सुवर्ण महोत्सव 2.0” लॉन्च किया

Jansansar News Desk

सोने और चांदी की कीमतों में समानता के लिए केंद्र सरकार की योजना

Jansansar News Desk

हीरे के उत्पादन सेक्टर में रोजगार के अवसर: देश-विदेश में मार्गदर्शन और कमाई के संभावनाएं

Jansansar News Desk

FIDSI ने प्रधान मंत्री को डायरेक्ट सेलिंग उद्योग को समर्थन देने के लिए दिया बजट सुझाव

Jansansar News Desk

कर प्रणाली में समझौते की जरूरत: भारतीय कर विवाद और उनका समाधान

Jansansar News Desk

Leave a Comment