Jansansar
लाइफस्टाइल

अमलनेर के श्री मंगल ग्रह मंदिर की ख्याति सात समुंदर के पार

श्री मंगल ग्रह देवता के दर्शन के साथ मंगल शांति पूजा व अभिषेक के लिए उमड रहा है जन सैलाब

अमलनेर ( प्रतिनिधि ) – शहर के मंगल ग्रह सेवा संस्था द्वारा संचालित किया जा रहे हैं श्री मंगल ग्रह मंदिर की ख्याति अब सात समुद्र पार पहुंच रही है जिसके कारण खानदेश सहित महाराष्ट्र व अन्य राज्य ही नहीं बल्कि देश-विदेश से श्री मंगल ग्रह देवता के दर्शन के लिए मंगल शांति पूजा व अभिषेक हेतु श्रद्धालुओं व पर्यटकों की भारी भीड़ हो रही है।

अमलनेर में श्री मंगल ग्रह देव मंदिर विश्व का एकमात्र स्वयंभुवा स्वतंत्र श्री मंगल ग्रह की मूर्ति वाला मंदिर है इसके साथ ही मंदिर में श्री भूमि माता की मूर्ति स्थापित होने वाला यह प्राचीनतम व दुर्लभ जागृत अध्यात्म केंद्र है इन सभी विशेषताओं के साथ यहां पर रोजाना दर्शनों के साथ पूजा अभिषेक आदि के लिए श्रद्धालु पर्यटक श्री मंगल ग्रह देव मंदिर में पहुंचते हैं प्रत्येक मंगलवार को तो यह संख्या लाखों में पहुंच जाती है उसमें भी विशेष रूप से जिन्हें मंगल दोष मांगलिक अथवा जिनका किसी कारण से विवाह संपन्न नहीं हो पा रहा है ऐसे विवाह के लिए इच्छुक युगल पूजा अर्चना व दर्शन के लिए पहुंचते हैं इसी प्रकार से श्री मंगल ग्रह देवता भूमिपुत्र होने के कारण जिन श्रद्धालुओं या व्यक्तियों का संबंध रेट खेती एवं मिट्टी से होता है ऐसे व्यवसाय किसान अभियंता वास्तु विशरद हुआ इन व्यापारों से जुड़े लोग श्री मंगल ग्रह देव मंदिर अमलनेर पहुंचकर अपनी श्रद्धा के अनुसार पूजा अर्चना करते हैं । इन सब के बीच श्री मंगल ग्रह देवता को युद्ध देवता भी माना गया है जिसके चलते ऐसे श्रद्धालु जिनका संबंध सुरक्षा, फौजी सेवा आदि से होता है उनकी भी संख्या दर्शन व पूजन के लिए बड़े पैमाने पर होती है।

श्री मंगल ग्रह देवता को रोग मुक्ति ऋण मुक्ति भाई मुक्ति एवं समृद्ध देने वाला भी माना जाता है उनसे श्रद्धा पूर्वक जो भी मांगा जाए वह श्रद्धालुओं को प्राप्त होता है इस प्रकार की भावना श्रद्धा लोगों में व्याप्त है मंगल ग्रह सेवा संस्था को आज तक कर इस को प्रमाण पत्र महाराज शासन का पर्यटन मित्र पुरस्कार भारतीय डाक विभाग का विशेष लिफाफा तथा पानी फाउंडेशन की ओर से भी सम्मानित किया जा चुका है इसी प्रकार से गूगल टीम की ओर से आकलन करते हुए श्री मंगल देव ग्रह मंदिर को पांच में से 4.6 रेटिंग देकर गवर्नमेंट की किया गया है दैनिक भास्कर समूह की ओर से बैंकॉक में आयोजित एक कार्यक्रम में अंतर्राष्ट्रीय सेवा कार्य के सर्वोच्च पुरस्कार के लिए श्री मंगल देव ग्रह मंदिर को सम्मानित किया गया है उनके साथ-साथ मंदिर संस्थान को अनेक पुरस्कार व सामाजिक सम्मान प्राप्त हुए हैं

मंगल ग्रह सेवा संस्था मात्र धार्मिक कार्यों में ही नहीं बल्कि आध्यात्मिक ,शैक्षणिक ,कृषि, स्वास्थ्य एवं पर्यावरण सहित अनेक सामाजिक कार्यों के लिए समर्पित संस्था है । श्री मंगल ग्रह मंदिर यह 15 एकड़ विस्तारित जगह पर स्थापित है ,यह संपूर्ण परिसर 24 घंटे सीसीटीवी कैमरा की निगरानी में है । मंदिर परिसर में किसी भी प्रकार की लूटपाट नहीं होती , किसी भी प्रकार का कर आदि नहीं लिया जाता है। यहां तक की दुपहिया व चार पहिया वाहन की पार्किंग ,चप्पल स्टैंड की सेवा भी पूरी तरह से निशुल्क है । मंदिर परिसर में प्रत्येक नल से आने वाला पीने का पानी यह प्रमाणित आर ओ वॉटर है। प्रत्येक मंगलवार को श्रद्धालुओं को नाम मात्र सेवा शुल्क में शुद्ध देसी घी में तैयार किया गया महाप्रसाद वितरित किया जाता है ।

मंदिर संस्थान द्वारा स्वयं की बड़ी नर्सरी भी स्थापित की गई है, जिसके माध्यम से वर्ष भर में लगभग एक लाख से अधिक पौधे पर्यावरण विकास को ध्यान में रखकर वितरित किए जाते हैं। मंदिर में सभी प्रकार के कचरा, फूल, पत्ती व अन्य प्रक्रिया वाले पदार्थ को देसी गाय के गोबर व गोमूत्र के साथ इकट्ठा करके बड़े पैमाने पर वर्मी खाद का निर्माण किया जाता है । प्लास्टिक बंदी ,दहेज प्रतिबन्ध, नशाबंदी के अलावा राष्ट्र प्रेम व अंध श्रद्धा निर्मूलन के लिए मंदिर व्यवस्थापन की ओर से वर्ष भर विभिन्न कार्यक्रम चलाए जाते हैं । इन सबके अलावा चीन उत्पादों पर बंदी के बारे में मंदिर व्यवस्थापन द्वारा सभी श्रद्धालुओं को शपथ दिलाकर समर्पित होने का भाव भी प्रस्तुत किया जाता है। हजारों विद्यार्थियों को प्रत्येक वर्ष शैक्षणिक सामग्री निशुल्क दी जाती है । शासन व स्वयंसेवी संस्थाओं को मंदिर प्रशासन की ओर से सभी प्रकार का सहयोग किया जाता हैं । सेना, फौज आदि के पूर्व व विद्यमान जवान व उनके परिजनों को आजीवन अभिषेक व महा प्रसाद निशुल्क प्रदान किया जाता है। एक बेटी के उपरांत परिवार नियोजन की प्रक्रिया अपनाने वाले श्रद्धालु दंपति को आजीवन अभिषेक व महाप्रसाद निशुल्क प्रदान किया जाता है । इसके अलावा दो बेटियों के उपरांत परिवार नियोजन की प्रक्रिया करने वाले श्रद्धालुओं को वर्ष में एक बार अभिषेक व महाप्रसाद निशुल्क दिया जाता है। मंदिर के संचालक मंडल एवं सेवाकर्मी स्वच्छता विनम्रता व पारदर्शिता के 3 सूत्र के माध्यम से विनम्रता पूर्वक श्रद्धालुओं को अपनी सेवा देते हैं।

पूरे विश्व में कहीं भी इतने उल्हास व समर्पण के साथ नहीं मनाया जाता होगा , उस तरीके से बड़े पैमाने पर श्री मंगल ग्रह जन्मोत्सव व श्री तुलसी विवाह का मंदिर में आयोजन किया जाता है । मंदिर परिसर में ही श्रद्धालुओं के लिए निवास का भी प्रबंध है । श्री मंगल ग्रह मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सड़क मार्ग व रेलवे मार्ग के पर्याय हैं ।जल्दी ही हेलीकॉप्टर के माध्यम से भी श्रद्धालु व पर्यटक मंदिर में अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकेंगे ।मंदिर की स्वतंत्र वेबसाइट श्रद्धालुओं को पूरी जानकारी प्रदान कर रही है, जिसके माध्यम से श्रद्धालु सात समुद्र पार बैठकर अमलनेर के इस मंदिर के बारे में जानकारी हासिल कर रहे हैं, और उपयोगिता अनुसार दर्शन के लिए मंदिर में भी प्रस्तुत हो रहे हैं।

https://youtube.com/@mangalgrahamandir?si=leru39iLiOgTlaRt

8348606060

8348707070

8348808080

 

Related posts

पाल इवेंट्स द्वारा WIBE- Women Integrated Business Expo सूरत का महिला उद्योग महोत्सव

Jansansar News Desk

क्या आप अपने पूर्वजों की वंशावली का पता लगाना चाहते हैं? क्या आप जानते हैं कि आपके पूर्वजों ने अपनी वंशावली कहाँ लिखी है? क्या आप अपनी खुद की वंशावली लिखना चाहते हैं?

Jansansar News Desk

अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट का शाही विवाह: शुभकामनाएं और समाचार

Jansansar News Desk

पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट सेवा के लिए यशवी टूर्स एंड ट्रैवल्स को दो प्रतिष्ठित पुरस्कार

Jansansar News Desk

यतीश कुमार की बहुप्रशंसित पुस्तक ‘बोरसी भर आँच’ पर परिचर्चा का कार्यक्रम का आयोजन किया गया

Jansansar News Desk

सत्त्विक सर्टिफिकेशन्स ने नवोटेल, एकॉर ग्रुप की संपत्ति को दुनिया की पहली 100% सत्त्विक सर्टिफाइड शाकाहारी इमारत के रूप में प्रमाणित किया

Jansansar News Desk

Leave a Comment