Jansansar
बिज़नेस

सूरत स्थित IBL फाइनेंस लिमिटेड के आईपीओ की 9 जनवरी को घोषणा

11 तारीख को बंद होने वाले आईपीओ में प्रति शेयर की कीमत 51 रुपये तय की गई है

सूरत: वित्तीय सेवाओं के लिए अग्रणी फिनटेक- आधारित प्लेटफॉर्म आईबीएल फाइनेंस लिमिटेड अब आईपीओ की घोषणा करने जा रहा है। यह इश्यू 9 जनवरी को आईपीओ की घोषणा के साथ खुलेगा और 11 तारीख को बंद हो जाएगा। कंपनी ने प्रति शेयर 51 रुपये का प्राइस बैंड तय किया है और शेयर 2000 के लॉट में खरीदे जा सकते हैं।
अगस्त 2017 में स्थापित, IBL फाइनेंस लिमिटेड एक फिनटेक आधारित वित्तीय सेवा मंच है जो ऋण देना आसान और तेज़ बनाने के लिए प्रौद्योगिकी और डेटा साइंस का उपयोग करता है। आईबीएल फाइनेंस डिजिटल प्रक्रिया के माध्यम से एक मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से सेवाएं प्रदान करता है और 50,000 तक का तत्काल व्यक्तिगत ऋण प्रदान करता है। यह ऋण सिर्फ 3 मिनट में अप्रूव हो सकता है। इससे कंपनी ने थकाऊ पारंपरिक ऋण प्रक्रिया में क्रांति ला दी है, जिसमें बहुत सारी कागजी झंझटों से मुक्ति, अंतर्निहित भौतिक उपलब्धता है। ग्राहक आईबीएल फाइनेंस ऐप डाउनलोड करके एक सरल निर्देशित प्रक्रिया के माध्यम से आवेदन कर सकता है और मिनटों के भीतर आवश्यक राशि प्राप्त कर सकता है। कंपनी ने 31 मार्च 2023 तक 71.05 करोड़ की राशि के 1,63,282 व्यक्तिगत ऋण वितरित किए। 2023 में IBL इंस्टेंट पर्सनल लोन एप्लिकेशन में 381,156 लॉगिन थे। हर महीने औसतन 27,969 उपयोगकर्ता ऐप पर सक्रिय थे। कंपनी के उन्नत अंडरराइटिंग एल्गोरिदम भी 500 से अधिक डेटा बिंदुओं के साथ क्रेडिट रिपोर्ट तैयार करने के लिए स्रोतों से डेटा का उपयोग करते हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि कंपनी द्वारा प्रदान की गई जानकारी ग्राहकों को आसानी से समझ में आ जाए, भाषा को सरल और संक्षिप्त रखा गया है। अगस्त 2023 तक, कंपनी की महाराष्ट्र और गुजरात में 7 शाखाएँ हैं।

अब कंपनी आईपीओ की घोषणा के साथ शेयर बाजार में एंट्री करने के लिए तैयार है। यह इश्यू सब्सक्रिप्शन के लिए 9 जनवरी को खुलेगा और 11 जनवरी तक खुला रहेगा। इश्यू की सदस्यता के लिए न्यूनतम राशि रु. 1,02,000 है, जिसके लिए न्यूनतम 2000 शेयरों के लिए आवेदन करना होगा और उसके बाद उसके गुणकों में कंपनी अपना इश्यू एनएसई प्लेटफॉर्म पर ला रही है।
फेडएक्स सिक्योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड को इश्यू के लिए लीड मैनेजर नियुक्त किया गया है। इश्यू संरचना 41 रुपए प्रीमियम के साथ प्राइज बैंड 51 रुपए प्रति शेयर की निश्चित की गई है। इस कीमत पर 10 रुपए के अंकित मूल्य के 65,50,000 शेयरों के इश्यू की पेशकश कंपनी कर रही है। कुल इश्यू में सार्वजनिक हिस्सेदारी का 50 प्रतिशत खुदरा और 50 प्रतिशत एचएनआई निवेशकों के लिए आरक्षित है। कुल निर्गम शेयरों का 5 प्रतिशत बाजार निर्माताओं के लिए आरक्षित है। इश्यू से पहले कंपनी की पेड- अप कैपिटल 18.18 करोड़ है जो इश्यू के बाद बढ़कर 24.73 करोड़ हो जाएगी। इश्यू से पहले बुक में 11.39 करोड़ रुपये का रिजर्व फंड था जो इश्यू के बाद बढ़कर 5.38.96 करोड़ हो जाएगा। इश्यू से पहले प्रमोटर के पास कंपनी के 85.55 शेयर थे। इश्यू से प्राप्त कुल आय का उपयोग कंपनी द्वारा भविष्य की पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने और कंपनी के टियर -1 पूंजी आधार को बढ़ाने और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए किया जाएगा। कंपनी की वित्तीय स्थिति में सुधार हो रहा है, लोन बुक में अच्छी ग्रोथ दिख रही है और एनपीए भी कम हो रहा है। शुद्ध लाभ पिछले वर्ष से बढ़कर 1.92 करोड़ रुपए हो गया। इश्यू से मिलने वाली फंडिंग से कंपनी का पूंजी आधार बढ़ेगा, जिससे लोन बुक में बड़ी बढ़ोतरी की उम्मीद है। कंपनी नए जमाने की लोन सेवाएं मुहैया करा रही है जो आने वाले समय में एक बड़ा क्षेत्र बनता नजर आ रहा है। 2019 के बाद पहली बार कोई एनबीएफसी कंपनी एसएमई इश्यू लेकर आ रही है। ऐसा प्रतीत होता है कि मुद्दा उचित मूल्य पर है। इश्यू में निवेश करना उचित लग रहा है। अच्छा लाभ मिल सकता है।

Related posts

जी-क्रैंक्ज़ ने गुजरात के अहमदाबाद में एक नया कार्यालय खोलकर अपने परिचालन का विस्तार किया

Jansansar News Desk

कलामंदिर ज्वैलर्स ने “सुवर्ण महोत्सव 2.0” लॉन्च किया

Jansansar News Desk

सोने और चांदी की कीमतों में समानता के लिए केंद्र सरकार की योजना

Jansansar News Desk

हीरे के उत्पादन सेक्टर में रोजगार के अवसर: देश-विदेश में मार्गदर्शन और कमाई के संभावनाएं

Jansansar News Desk

FIDSI ने प्रधान मंत्री को डायरेक्ट सेलिंग उद्योग को समर्थन देने के लिए दिया बजट सुझाव

Jansansar News Desk

कर प्रणाली में समझौते की जरूरत: भारतीय कर विवाद और उनका समाधान

Jansansar News Desk

Leave a Comment