Jansansar
राष्ट्रिय समाचार

श्री दिलिप ओम्मेन (इंडियन स्टील एसोसिएशन के अध्यक्ष और AN/NS India के सीईओ)

यह अंतरिम बजट राजकोषीय विवेक पर केंद्रित है और एक संतुलित दृष्टिकोण प्रस्तुत करता है। यह इस बात का अच्छा संकेत है कि, जुलाई में बजट में कैसा आएगा, इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए पूंजीगत व्यय में 11.1% की
वृद्धि हुई है, जिससे कुल खर्च/परिव्यय 11.1 लाख करोड़ रुपये होगा। हालांकि, FY24 में संभावित खर्च पर नजर डालें तो यह करीब 9.5 लाख करोड़ रुपये होगा। जिससे, अनिवार्य रूप से, वास्तविक तौर पर यह वृद्धि लगभग 17% होगी। इससे अंततः घरेलू इस्पात की मांग मजबूत होगी, निजी निवेश बढ़ेगा और रोजगार का सृजन होगा। अभूतपूर्व गति से सभी प्रकार के इंफ्रास्ट्रक्चर (डिजिटल, सामाजिक और भौतिक) के निर्माण पर जोर आशाजनक है। वित्त वर्ष 24-25 के लिए राजकोषीय घाटा लक्ष्य 5.1% और निरंतर राजकोषीय समझदारी वास्तव में प्रशंसनीय है।

Related posts

जम्मू-कश्मीर: बढ़ते आतंकी हमलों के खिलाफ सुरक्षा बदलाव

Jansansar News Desk

जापान में KP.3 वायरस: कोरोना की नई लहर और अस्पतालों की भर्ती में तेजी से वृद्धि

Jansansar News Desk

गोरखपुर-चंडीगढ़ एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतरे, कई यात्री घायल

Jansansar News Desk

किसानों का दिल्ली तक ट्रैक्टर मार्च एक नया आंदोलन का आगाज़

Jansansar News Desk

भारतीय श्रमिकों की मेहनत: दुनिया में सबसे अधिक कामकाजी घंटे

Jansansar News Desk

भारत में आयकर व्यक्तिगत और सामाजिक न्याय की दिशा में सरकारी कदमें

Jansansar News Desk

Leave a Comment