Jansansar
फ़ूड

इंस्टा फूड ने रेडी-टू-ईट और रेडी-टू-कुक के बीच अंतर को समझने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया

– यह कार्यक्रम 29 अप्रैल को शेटा एक्सपोर्ट के इंस्टा फूड द्वारा भाठा क्षेत्र में आयोजित किया गया था

सूरत : आज कामकाजी दंपत्तियों और पढ़ाई के लिए विदेश जाने वाले छात्रों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। उनके लिए खाना बनाना और अच्छा खाना पाना एक बड़ी समस्या बन गई है। इस समस्या के समाधान के रूप में आज इंस्टा फूड लोकप्रिय हो रहा है। लेकिन ज्यादातर लोग रेडी-टू-ईट और रेडी-टू-कुक भोजन के बीच भ्रमित हो जाते हैं। अक्सर वे इन दोनों में अंतर नहीं समझ पाते। इसलिए लोगों को इस अंतर के बारे में जागरूक करने के लिए शेटा एक्सपोर्ट्स के इंस्टा फूड की ओर से एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

इस बारे में शेटा एक्सपोर्ट के पीयूष शेटा और तेजल शेटा ने कहा कि, इंस्टा फूड उस प्रकार का होता है, जिसमें व्यक्ति महज 5 से 15 मिनट में नया खाना बना सकता है और अपनी जरूरत के हिसाब से खाने का स्वाद भी बदल सकता है। भाठा स्थित विशाला रेस्टोरेंट के गार्डन में आयोजित इस कार्यक्रम में सूरत के लोगों के साथ इंस्टा फूड बनाया गया और फीडबैक लिया गया।

इस कार्यक्रम में स्वाद किचन जैसे ब्रांडों से स्नेहा ठक्कर और राखी बंसल और पूर्व खाद्य निरीक्षक बी.जे. डोंडा के अलावा, प्रभावशाली लोग जगदीश पुरोहित, जिगर जोशी, मोनाली आदि उपस्थित थे। उन्होंने रेडी टू कुक में अपना हाथ आजमाया और यह भोजन कितना स्वस्थ और स्वादिष्ट है, इस पर अपनी राय दी। उन्होंने आगे कहा कि, इस पहल का मुख्य उद्देश्य लोगों को रेडी-टू-ईट और रेडी-टू-कुक के बीच का अंतर समझाना और इंस्टा फूड के बारे में उनके बीच जागरूकता पैदा करना है।

Related posts

चीनी रेस्तरां में 40 साल की मेहनत के बाद अपना भोजनालय खोलने तक! मेरा छोटा चीन, बेंगलुरु

JD

आतिथ्य उद्योग में समृद्ध करियर एंव सुनिश्चित भविष्य की अनेकानेक संभावनाये

Ravi Jekar

Leave a Comment