Jansansar
राजनीती

राजस्थान में अब भाजपा नेताओं को प्रदर्शन के लिए लेनी होगी पार्टी की अनुमति

जयपुर। भाजपा पार्टी पदाधिकारियों के अनुसार राजस्थान में अब किसी भी भाजपा नेता को संगठन की अनुमति के बिना विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस आशय का निर्णय रविवार को राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा के नेतृत्व में युद्ध विधवाओं के विरोध के दौरान पार्टी के गुटों के खुलकर सामने आने के बाद भाजपा के दिग्गजों की बंद कमरे में हुई बैठक में लिया गया। अगर कोई अपनी मर्जी से विरोध करता है, तो पार्टी उसके साथ खड़ी नहीं होगी।
राजस्थान पुलिस द्वारा विरोध स्थल से उठाई गई युद्ध विधवाओं से मिलने की कोशिश करने के लिए मीना को हिरासत में लिए जाने के बाद कठोर निर्णय लिए गए।
पार्टी के नेता पुलवामा युद्ध की विधवाओं और राजस्थान के सांसदों के अपमान के खिलाफ खुलकर सामने आए।
मौके पर प्रदर्शनकारी दो गुटों में बंटे नजर आए, जो भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया व मीणा के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे।
साथ ही पथराव किया और वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। हालांकि, भाजपा नेताओं ने दावा किया कि पार्टी के बाहर के असामाजिक तत्वों ने इस तरह की गुंडागर्दी की थी।
इस बीच जांच जारी है।

Related posts

भारत: 2075 तक दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की दिशा में प्रगति

Jansansar News Desk

तिब्बती राष्ट्रपति का चीन के दबाव में तिब्बत के वर्तमान स्थिति पर विचार

Jansansar News Desk

महाराष्ट्र में कौशल विकास और उद्यमिता के लिए नई योजनाएं

Jansansar News Desk

कांग्रेस और सपा का यूपी उपचुनाव में साझा गठबंधन

Jansansar News Desk

हरियाणा में अग्निवीरों के लिए नई योजनाएँ घोषित: सीधी भर्ती में आरक्षण और छूट का लाभ

Jansansar News Desk

भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी के बयान पर स्पष्टीकरण: सबका साथ सबका विकास नारे और उनकी राजनीतिक परिप्रेक्ष्यात्मकता

Jansansar News Desk

Leave a Comment